पीएम किसान योजना: यदि आपके बैंक खाते में 2,000 रुपये नहीं आए हैं तो इन नंबरों पर कॉल करें

0
164

जैसा कि भारत, दुनिया के साथ, घातक कोरोनावायरस महामारी से जूझ रहा है, सरकार गरीबों और किसानों को राशन मुहैया करा रही है और उन्हें संकट से निपटने में मदद करने के लिए जो अब तक 2,649 मारे गए हैं और 81, 970 संक्रमित हैं देश। सरकार ने कहा है कि पीएम किसान योजना के तहत 2,000 रुपये किसानों के खाते में स्थानांतरित किए गए हैं

ताकि वे इस संकट की स्थिति में अपना काम जारी रख सकें। वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट में यह जानकारी दी जिसमें कहा गया था कि पीएम-किसान योजना के तहत मार्च 2020 से 9.13 पात्र किसानों के बैंक खातों में 18,253 करोड़ रुपये जमा किए गए हैं। लेकिन अगर किसानों को पैसा नहीं मिला है या उनके बैंक खातों में राशि नहीं पहुंची है, तो यहां उन्हें क्या करना है। अगर आप पीएम किसान लाभार्थी हैं और आपके खाते में 2,000 रुपये जमा नहीं होते हैं, तो आपको तुरंत जिला कृषि अधिकारी, बैंक अधिकारियों को सूचित करना चाहिए अन्यथा ब्लॉक कार्यालय में जाएं।

अगर आपको वहां से कोई मदद नहीं मिलती है तो नीचे दिए गए केंद्रीय कृषि मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें और अपनी शिकायतों से अवगत कराएं। PM-KISAN हेल्पलाइन नम्बर पीएम-किसान हेल्पलाइन – 155261 पीएम-किसान टोल फ्री – 1800115526 लैंडलाइन नंबर – 011-23381091, 011-23381092, 23382401 ईमेल – pmkisan-ict@gov.in PM-KISAN सूची में अपना नाम कैसे बदलें यदि आप पीएम-किसान सूची में अपना नाम जांचना चाहते हैं, तो आप सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।

– होम पेज पर ‘किसान कॉर्नर’ विकल्प खोजें। – इसके बाद, लाभार्थी सूची ’के लिंक पर क्लिक करें। – अब अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का विवरण दर्ज करें। – इसे भरने के बाद गेट रिपोर्ट पर क्लिक करें और पूरी सूची प्राप्त करें। – इसके अलावा, आप www.yojanagyan.in पर भी जा सकते हैं और अपने विवरण प्रस्तुत कर सकते हैं। PM-KISAN YOJANA का लाभ पीएम किसान योजना के तहत, सरकार तीन किश्तों में हर साल किसानों के खाते में 6,000 रुपये स्थानांतरित करती है।

किसानों को मौजूदा संकट से निपटने में मदद करने के लिए पीएम-किसान (FY2020-21) की पहली किस्त पहले ही हस्तांतरित कर दी गई है। सरकार ने कहा कि वह जल्द ही दूसरी किस्त भी जारी करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here